Bank loan cleared by samoon foundation of poor family Sumitra Devi

किसी भी #आर्थिक_समस्या से निकलने के लिए हम सबसे आसान रास्ता #कर्ज या बैंक से लॉन समझ लेते है लेकिन जब यह #कर्ज चुका नही पाते तो यही कर्ज हमारे जीवन को और भी अधिक मुश्किल में डाल देता है |

कुछ ऐसी ही कहानी थी गरीब, निर्धन और असहाय सुमित्रा देवी जी की जो अपने विकलांग पति की दवाइयां और बेटियों की पढ़ाई के खर्च की जिम्मेदारियों को #ध्याडी #मजदूरी कर के बखूबी निभा कर रही थी लेकिन बड़ी विटिया की #शादी में लिए बैंक के लॉन लिया था लेकिन कोरोना की बजह से गांव में कुछ भी रोजगार न मिलने के कारण बैंक का ₹17,000/- का बकाया चुकाने में असमर्थ थी जिससे सुमित्रा देवी जी एवँ परिवार बहुत बड़े मानसिक पीड़ा से गुजर रहे थे और मन ही मन यह डर 3 साल ईमानदारी से बैंक का लोन चुकाया और अब जब लोन खत्म होने वाला था डिफॉल्टर होने की कगार पर आ गयी, अन्य बेटियों की शादी में अब बैंक से कर्ज की उम्मीद तो खत्म हुई सो अलग उल्टा अब तो बैंक की रिकवरी की कार्यवाही का सोच सोच कर ये बिल्कुल हताश हो गईं, पहले ही गरीबी में दयनीय जीवन और अब बैंक रिकवरी की डर, था कि जो टूटी फूटी झोपड़ी है पर बैंक रिकवरी के लिए ताला न लगा दे, गांव के किसी ब्यक्ति ने #समूण_फाउंडेशन के बारे में जानकारी दी तो तत्काल सहायता हेतु निवेदन किया ।

समूण फाउंडेशन को जब उक्त परिवार की दयनीय स्तिथि के बारे में पता चला तो संस्था के सदस्य सुदर्शन पंवार जी के सहयोग से सम्पूर्ण लॉन का भुगतान किया गया ।
सुमित्रा देवी जी एवँ परिवार ने समूण फाउंडेशन और सुदर्शन पंवार जी का धन्यवाद अदा किया और और बैंक से कर्ज का #क्लीयरेंस_पेपर मिलने पर प्रसन्ता प्रकट की है ।

प्लेज #पोस्ट को #शेयर अवश्य करें क्योंकि आप जैंसे ब्यक्तियो के माध्यम से ही सुमित्रा देवी जी को समूण फाउंडेशन के बारे में पता चला और समूण फाउंडेशन ने उनकी हेल्प की ।

विनोद जेठुडी
समूण परिवार
मानवता की सेवा हेतु समर्पित

Subscribe
Our Newsletter

Donate Now